विक्रांत भूरिया युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व जबलपुर की पिंकी मुदगल उपाध्यक्ष बनी

इस ख़बर को शेयर करें:

भोपाल @ कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बने हैं। जबलपुर जिले की युवा नेता प्रतिमा पिंकी मुदगल उपाध्यक्ष बनी हैं। प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए नौ उम्मीदवारों के बीच मुकाबला हुआ था, जिसमे सबसे ज्यादा वोट पूर्व मंत्री कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया को मिले हैं। विक्रांत ने अपने निकटतम उम्मीदवार संजय सिंह यादव को 20 हजार 420 मतों से हराया गया। संजय सिंह यादव प्रदेश उपाध्यक्ष चुने गए हैं। वहीं आठवें नंबर पर रहने वाले आगर के विधायक विपिन वानखड़े भी उपाध्यक्ष बने हैं। उन्हें अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित उपाध्यक्ष का पद मिला है।

विक्रांत भूरिया अब तक झाबुआ जिला युवा कांग्रेस के अध्यक्ष थे। वे वर्ष 2018 में झाबुआ विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़े थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया को चुनाव में 40 हजार 850 वोट मिले। वहीं युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय सिंह यादव को 20 हजार 430 वोट मिले। वे दूसरे नंबर पर रहे जबकि तीसरे नंबर पर अजीत बोरासी रहे। पूर्व सांसद प्रेम चंद गुड्डू के बेटे अजीत को 13 हजार 204 वोट मिले। संजय सिंह यादव और अजीत बोरासी ओपन कैटेगरी से युवा कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष बने हैं, वहीं पांचवें नंबर पर एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी रहे उन्हें 9 हजार 824 वोट मिले। विवेक प्रदेश सचिव बने हैं।

जबलपुर की युवा नेता प्रतिमा पिंकी मुदगल भी उपाध्यक्ष बनी है। उन्हें 2 हजार 534 वोट मिले है। प्रदेश उपाध्यक्ष के लिए एक पद महिला के लिए आरक्षित किया गया था। इस पद पर वे काबिज हुई हैैं, वहीं अनुसूचित वर्ग के लिए आरक्षित वर्ग पर आगर विधायक विपिन वानखेड़े उपाध्यक्ष बने हैं, उन्हें महज 1988 वोट मिले। हालांकि मतदान के एक दिन पूर्व विपिन ने चुनाव से बाहर होने का ऐलान कर दिया था।
सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाह की इस चुनाव में करारी हार हुई है। उन्हें महज 4 हजार 886 वोट मिले। वे प्रदेश उपाध्यक्ष भी नहीं सके। अब उन्हें सचिव का पद दिया गया है। वहीं प्रदेश महासचिव के पद पर सबसे ज्यादा वोट अभय तिवारी को मिले। उनके साथ ही आतिफ कुरैशी, अभिषेक परमार, अभिषेक ठक्कर, इमरान मंसूरी, मोनिका मांडरे, नदीम पटेल, शादाब खान, सोमिल नाहटा, विजेंद्र करोसिया और स्वीटी पाटिल महासचिव चुने गए हैं। कई जिला अध्यक्ष भी वोटिंग से चुने गए हैं।