मनरेगा से बदली ग्राम विकास तस्वीर

जबलपुर। यह कहानी है, जिले के एक ऐसे गांव की जो विकास की लंबी बाट जोह रहा था लेकिन मनरेगा ने उस गांव की तस्वीर बदल दी। यह गांव है जनपद पंचायत मझौली के ग्राम पंचायत डूंडी। जिनके दो पोषक ग्राम है मजोली और करहैया टोला। इस ग्राम पंचायत की कुल जनसंख्या 2372 है। कलेक्टर श्री भरत यादव के निर्देशन एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रियंक मिश्र के मार्गदर्शन में इस गांव में चार करोड़ 28 लाख 27 हजार के मनरेगा योजना अंतर्गत तालाब निर्माण, खेत तालाब, कंटूर ट्रेंच, चेक डैम, सुदूर सड़क ग्रेवल सड़क, पौधारोपण इत्यादि काम स्वीकृत किये गये।

इसमें से 3 करोड़ 40 लाख 18 हजार रुपये के काम पूर्ण हो चुके हैं। इनमें से कुछ कार्य 5 वर्ष पूर्व के है। मनरेगा के अंतर्गत ग्राम में 7 तालाब पूर्ण हो जाने से कृषकों को इसका लाभ मिला है जिसके द्वारा तालाब से सिंचाई का लाभ लेते हुए फसलों की उपज में वृद्धि हुई है साथ ही आसपास के क्षेत्र में जल स्तर में वृद्धि होने से सिंचाई सुविधा का लाभ हुआ है। इससे लगभग 125 कृषक लाभान्वित हुए हैं। ग्रामीण जनों को गर्मी में निस्तार का पानी भी उपलब्ध हुआ है साथ ही ग्राम के मवेशियों को भी पीने के लिए पानी की उपलब्धता हुई है।

ग्राम पंचायत डूडी की एक हितग्राही कृष्णा बाई ने अपनी कृषि भूमि में खेत तालाब का निर्माण कराया ।पहले वह अपनी खेत से बहुत कम उपज लेती थी लेकिन खेत तालाब से उसने उड़द,सिंघाड़े एवं मछली पालन का कार्य शुरू किया जिससे उसकी आय दोगुने से भी अधिक हो गई और उन्होंने बताया कि इस साल 4 क्विंटल मछली, 4 क्विंटल उड़द ,5 क्विंटल सिंघाड़े और 7 क्विंटल गेहूं का उत्पादन किया जिससे लगभग उसे सवा लाख रुपए की आमदनी हुई।

इस गांव में सात कंटूर ट्रेंच पूर्ण होने से जल स्तर में वृद्धि हुई ।पहले यहाँ पानी 75 फुट नीचे में मिलता था लेकिन कंटूर ट्रेंच से अब 60 फुट में ही मिलने लगा। इस गांव में सात सुदूर ग्रेवल सड़क का निर्माण किया गया जिससे ग्रामीण जनों को आवागमन की सुविधा मिली और 3 गांव आपस में जुड़ गए 3 सीसी सड़क निर्माण हो जाने से ग्राम के अंदर भी आवागमन सुगम हो गया है । ग्राम पंचायत डूंडी की तस्वीर बदलने की कहानी में मनरेगा योजना अंतर्गत किये विभिन्न कार्यो जहां स्थानीय लोगों को रोजगार सुनिश्चित किया जा रहा है वहीं डूंडी गांव विकास का नया प्रतिमान गढ़ रहा है।