होली से पहले मौसम ने बदले रंग

मार्च के महीने में ताजा बर्फबारी हिमाचल आने वाले पर्यटकों के लिए किसी सौगात से कम नहीं है। अमूमन यहां इस समय बर्फ नहीं पड़ती है। लेकिन मौसम के करवट लेने कारण यहां अच्छी मात्रा में बर्फ के साथ बारिश भी पड़ी है।  पहाड़ी राज्य जम्मू-कश्मीर में बारिश और बर्फबारी के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां भूस्खलन के कारण कश्मीर घाटी को देश के अन्य हिस्से से जो़ड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद करना पड़ा है। एक और पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में भी कई जगहों पर बर्फ पड़ने और बारिश की खबर मिली है।

बात करें मैदानी इलाकों की तो राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को दिन भर बादल छाए रहने के बाद शाम को कई इलाकों में जमकर बारिश हुई। बिन मौसम हो रही बारिश के कारण पारे में भी गिरावट दर्ज की गई है और अब तक गर्म कपड़े पैक कर चुके लोग फिर से इन्हें निकालने के लिए मजबूर हुए हैं।

पंजाब और पड़ोसी राज्य हरियाणा के कई जगहों पर बारिश हुई है। मौसम विभाग ने बताया कि पटियाला, रोपड़, लुधियाना, होशियारपुर, अमृतसर, आदमपुर, हलवारा, पठानकोट और मोहाली समेत पंजाब के अनेक स्थानों पर बारिश हुयी। जयपुर सहित प्रदेश के कई इलाकों में गुरुवार देर रात हल्की वर्षा होने से तापमान दो से चार डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है। मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में जयपुर, अजमेर, दौसा समेत अन्य इलाकों में हल्की बारिश हुई।

चुनावी राज्य उत्तर प्रदेश में भी कई इलाकों में बारिश हुई है। बारिश से खलियानों में तैयार सरसों की फसल के खराब होने की संभावना से किसान परेशान हैं। हालांकि किसी जगह से तेज बारिश होने की सूचना नहीं है।मौसम की जानकारों का कहना है कि इस समय उत्तर भारत में एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस ने दस्तक दी हुई है वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से एक दूसरा वेदर सिस्टम बन गया है.

यह वेदर सिस्टम है हरियाणा और उत्तर-पूर्व राजस्थान के ऊपर बना एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन. इसकी वजह से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आसमान पर बादलों की आवाजाही हो रही है । फरवरी के महीने में पडी गर्मी के बाद मार्च के बदले मौसम ने लोगों को थोडी राहत दी है ।