रांझी में हुई अंधी हत्या का 24 घंटे के अंदर हुआ खुलासा : गाडी की चाबी ढूढने के विवाद पर मारा चाकू
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। थाना  रांझी में 29 sept की रात्रि में सरकारी स्कूल के पास मुखर्जी चैक मानेगांव में झगड़ा होने एवं घायल को उपचार हेतु सिविल अस्पताल रांझी लाये जाने की सूचना पर सिविल अस्पताल रांझी पहुची पुलिस केा लक्की उर्फ भागीरथ उइके उम्र 30 वर्ष निवासी सरकारी स्कूल के सामने मुखर्जी चैक मानेगांव ने बताया कि वह पीएससी की तैयारी कर रहा है दिनांक 29-9-2020 की शाम लगभग 4 बजे उसकी बुआ के लड़के निक्की उर्फ अमित सरयाम और अमन उर्फ सनी ठाकुर उसके घर आये थे ।

फिर दोनों उसके बड़े भाई शैंकी उर्फ नरेन्द्र उइके को फोन करके उसके साथ शराब पीने चले गये थे रात्रि लगभग 9 बजे तीनों शराब पीकर घर आये शैंकी और निक्की बाहर थे, सनी ठाकुर उसके पास अंदर आया और बोला आप मेंरे साथ पीने नहीं गये तो वह बाहर आकर देखा कि दुकान  के सामने पट्टी पर निक्की बैठा था तो वह निक्की को अंदर आने के लिये बोला तो निक्की कुछ नही बोला फिर वह अपन कमरे में चला गया था।

तब तक शैंकी भी अंदर आ गया और उसके पीछे निक्की भी अंदर आ गया, फिर शैंकी खाना खाया और निक्की और सनी को खाना खाने को कहा तो दोनों ने खाना नहीं खाया और निक्की बाहर सीढ़ी पर बैठ गया और सनी उसके साथ खाना खाने पीछे तरफ चला गया और खाना खाकर उसके साथ सो गया , निक्की सीढ़ी पर बैठा रहा और वहीं से बाहर चला गया था ।

थोड़ी देर बाद वह निक्की को देखने गया तो निक्की गेट के सामने चित्त पड़ा था निक्की के पेट एवं दाहिने हाथ से खून निकल रहा था तो उसने शैंकी, सनी , मेघा को बताया और अपने दौस्त अभिषेक की कार में निक्की को इलाज कराने हेतु सिविल अस्पताल रांझी लेकर पहुचे निक्की कुछ बोल नहीं पा रहा था निक्की के दाहिने हाथ और पेट में चाकू लगा था, अस्पताल में डाक्टर ने इलाज चालू किया उसी समय निक्की उर्फ अमित सरयाम उम्र 31 वर्ष निवासी गंगानगर थाना गढ़ा की मृत्यु हो गयी थी।

किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा निक्की उर्फ अमित सरयाम की चाकू मारकर हत्या कर दी गई है। घटित हुई घटना से वरिष्ट अधिकारियों को अवगत कराते हुए शव को पीएम हेतु भिजवाते हुए रिपोर्ट पर धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।  

घटित हुई घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पंु.से.) के द्वारा आरोपी की  पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उत्तर अगम जैन (भा.पु.से.), नगर पुलिस अधीक्षक राॅझी मोहम्मद इसरार मंसूरी, के मार्गनिर्देशन में थाना प्रभारी राॅझी आर के मालवीय के नेतृत्व में टीम गठित की गई है।

गठित टीम के द्वारा घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया सीसीटीव्ही फुटेज खंगाले गये, घटना स्थल के पास  खून की बूंदे रोड पर फैली हुई मिली,  मिले सी. सी. टी. व्ही.  एवं रोड पर मिली खून की बूंदो के आधार पर संदेही मंगल कोल को पकड़ा गया एवं सघन पूछताछ की गयी तो मंगल कोल ने बताया कि दिनाक 29-9-2020 को वह मानेगॅाव तालाब से शराब पीकर मुखर्जी चैक घूमने आया था जहाॅ से रात्रि करीब 10.00 बजे अपने घर की तरफ जा रहा था तभी मुखर्जी चैक के पास सरकारी स्कूल के अन्दर एक लडका मोबाइल की रोशनी मे कुछ ढूढ रहा था

जिसने उसे देख आवाज देकर अपने पास बुलाया अैोर कहा की मेरी गाडी की चाबी गुम गई है थोडा ढुढबा दो तो वह बाउन्ड्री कूद कर स्कूल के अन्दर पहुंचा एवं गाडी की चाबी ढुढवाता रहा किन्तु चाबी नही मिली तो उसने ओर ढूढवाने से मना कर दिया तथा जाने लगा तो उस लडके नेे उसे पकड लिया ओैर बोला की अभी नही जायेगा तू मेरी चाबी ढूढने के वाद जायेगा, इस बात  से दोनो में विवाद हुआ तो उसनेे अपने पास रखा चाकू उस लडके को मारा।

पहला वार उसने हाथ से रोक लिया तो दुसरा वार उसने लडके के पेट मे कर दिया पेट मे चाकू लगने से वह लडका वहा से भागा तो उसका एक काले रंग का बैेग वही गिर गया जिसे वह उठाकर स्कूल की बाउन्ड्री कूदकर पीछे तरफ भाग गया , बाउन्ड्री कूदते वक्त बाउन्ड्री मे लगे कांच उसके हाथ मे लग गये थे ओर नीचे कूदने पर वहा पडी बियर की बाटल के कांच उसके पैर मे लग गये थे जिससे खून निकला था ।

उल्लेखनीय भूमिका – अंधी हत्या का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी रांझी श्री आर.के. मालवीय   उप निरी राहुल काकोडिया प्रधान आरक्षक राजेश मिश्रा आरक्षक साकेत तिवारी जितेन्द्र तिवारी,  प्रदीप तिवारी ,वीरेन्द्र पटैल  की सराहनीय भूमिका रही।