व्यापारिक ख़बरें जो बनी रहीं चर्चा में: वर्ल्ड बैंक ने बताई ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस रिपोर्ट’ को टालने की वजह
इस ख़बर को शेयर करें

व्यापारिक ख़बरें जो बनी रहीं चर्चा में

वर्ल्ड बैंक ने बताई ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस रिपोर्ट’ को टालने की वजह
वर्ल्ड बैंक ने दुनियाभर के देशों में व्यापार सुगमता को लेकर जारी करने वाली ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस रिपोर्ट’ के पब्लिकेशन को टालने का फैसला किया है. वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि उसकी पिछली कुछ रिपोर्ट्स में डेटा में बदलाव आया है जिस वजह से ये फैसला लिया है. साल 2017 से लेकर 2019 तक के रिपोर्ट्स में अनियमितता पाई गई और जो देश इससे प्रभावित हुए उन्होंने वर्ल्ड बैंक को इससे अवगत करवाया. बता दें कि बीते 5 सालों में भारत ने ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स’ में 79 स्थानों की छलांग लगाई है.

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर पर कोरोना की मार! कंपनी की सेल्स 48 फीसदी घटी
टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की घरेलू बाजार में बिक्री में कमी आई है. टोयोटा के मुताबिक अगस्त महीने में उसकी बिक्री 48.08 प्रतिशत घटकर 5,555 इकाई रह गई. बीते साल अगस्त में कंपनी ने 10,701 यूनिट की बिक्री की थी. इस हिसाब से उसे इस साल 5146 यूनिट का नुकसान हुआ. टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट नवीन सोन ने कहा कि कोरोना की वजह से टोयोटा कारों की डिमांड और सप्लाई दोनों पर असर हुआ है. अभी हमारी प्लांट में सिंगल शिफ्ट में ही काम हो रहा है. इसमें भी लिमिटेड कर्मचारी ही काम कर रहे हैं, क्योंकि उनकी सेहत और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है.

 

 

Maruti की बिक्री में 17% इजाफा , Alto-WagonR की बिक्री 94.7% बढ़ी
देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की बिक्री अगस्त में 17.1 फीसदी बढ़कर 1 लाख 24 हजार 624 यूनिट पर पहुंच गई. एक साल पहले समान महीने में कंपनी ने 1 लाख 6 हजार 413 वाहन बेचे थे. वहीं पिछले साल की तुलना में घरेलू बिक्री 20.2 प्रतिशत बढ़कर 1,16,704 इकाई हो गई, जो अगस्त 2019 में 97,061 इकाई थी. अगस्त महीने में कंपनी की मिनी कार- ऑल्टो और वैगनआर की बिक्री 94.7 प्रतिशत बढ़कर 19,709 यूनिट पर पहुंच गई, जो अगस्त, 2019 में 10,123 यूनिट थी. पीटीआई की खबर के मुताबिक, इसी तरह कॉम्पैक्ट सेगमेंट में स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर की बिक्री 14.2 प्रतिशत बढ़कर 61,956 यूनिट पर पहुंच गई, जो अगस्त, 2019 में 54,274 यूनिट रही थी. कंपनी का कहना है कि विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और एर्टिगा सहित यूटिलिटी वाहनों की बिक्री 13.5 प्रतिशत बढ़कर 21,030 इकाई हो गई, जो एक साल पहले महीने में 18,522 इकाई थी. कंपनी का कहना है कि अगस्त में एक्सपोर्ट 15.3 फीसदी घटकर 7,920 यूनिट रहा, जो पिछले साल इसी महीने में 9,352 यूनिट था.

टेलीक़ॉम कंपनियों को SC से राहत, AGR बकाया चुकाने के लिए मिले 10 साल
AGR बकाया संकट से जूझ रही टेलीकॉम कंपनियों को सोमवार को सुप्रीम से बड़ी राहत मिली है. सर्वोच्च न्यायालय ने टेलीकॉम कंपनियों को AGR बकाया चुकाने के लिए 10 साल का वक्त दिया है. हालांकि सभी कंपनियों को फिलहाल 10 फीसदी अग्रिम रकम जमा करवाने के लिए भी कहा गया है. इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि बकाया जमा करवाने में देरी होती है तो कंपनियों को ब्याज, जुर्माना और कोर्ट की अवमानना का सामना करना पड़ेगा. कोर्ट ने कंपनियों से कहा है कि वो किश्तों में अपना बकाया चुकाएं जिसकी पहली तारीख 1 अप्रैल 2021 से शुरू होगी और आखिरी तारीख 31 मार्च 2031 तय की गई है. कंपनियों को सालाना किश्त चुकाने के लिए 7 फरवरी की तारीख तय की गई है. भारती एयरटेल की तरफ से कोर्ट में पेश हुए वकील कपिल सिबल ने दावा किया कि सरकार 20 सालों का वक्त देना चाह रही थी लेकिन कोर्ट ने 10 साल का ही दिया है. अब ये कंपनियों पर निर्भर करता है कि वो इस फैसले के बाद पुनर्विचार याचिका दायर करते हैं या नहीं.