कोरोनावायरस: चिकित्सकीय उपकरणों की वैश्विक कमी की आशंका

कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में चिकित्सकीय उपकरणों की वैश्विक कमी के प्रति विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेताया। दुनिया भर में मास्क औऱ गॉगल्स की उठ रही मांग के मद्देनज़र उद्योगों और सरकारों से निजी स्तर पर इन उत्पादों के निर्माण में 40 फीसदी की बढ़ोत्तरी करने का किया आह्वान। चीन में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, मरने वालों की संख्या 2981.

दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है । अब तक दुनिया के विभिन्न हिस्सों में 3,100 से अधिक लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है और संक्रमण के 90,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। चीन में कोरोना वायरस के कारण 31 और लोगों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या 2,946 तक पहुंच गई। संक्रमण के 125 पुष्ट मामले सामने आए हैं, जो देश में कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू होने के बाद से सबसे कम हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने आगाह किया कि कोरोना वायरस ने निपटने में लगे स्वास्थ्यकर्मियों के पास मास्क और गॉगल्स जैसी सुरक्षात्मक वस्तुओं की घोर कमी हो रही है। साथ ही डब्ल्यूएचओ ने इनकी जमाखोरी और दुरुपयोग की चेतावनी भी दी है।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख तेद्रोस अदहानोम घेब्रेयेसस ने कहा कि संगठन ने 27 देशों में पांच लाख से ज्यादा व्यक्तिगत सुरक्षात्मक सामग्री भेजी है, लेकिन साथ ही चेतावनी दी कि इनकी आपूर्ति तेजी से घट रही है। दुनिया भर में मास्क औऱ गॉगल्स की उठ रही मांग के मद्देनज़र उद्योगों और सरकारों से निजी स्तर पर इन उत्पादों के निर्माण में WHO ने 40 फीसदी की बढ़ोत्तरी करने का आह्वान किया है।

अमेरिका में कोरोना वायरस से नौ लोगों की मौत की खबर है। अमेरिका में कोविड-19 वायरस से अब तक होने वाली सभी नौ मौतें सिएटल इलाके में हुई हैं। इसी केंद्र ने वायरस के बहुत सारे मामलों और मौतों की खबर दी है। वॉशिंगटन राज्य में कोरोनो वायरस मामलों की कुल संख्या 27 हो गई है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि उनका प्रशासन अमेरिका में कोरोनोवायरस के अधिक मामले वाले क्षेत्रों में यात्रा में कटौती कर सकता है।

इटली में नए कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या 79 हो गई है जबकि ढाई हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। ये संख्या यूरोप के सभी देशों से ज्यादा है। इटली में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 2,502 हो चुकी है। अधिकारियों ने बताया कि वे 25 हजार 856 लोगों की जांचें कर चुके हैं।