लोकसभा में योगी: यूपी मोदी के सपनों का प्रदेश होगा

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार आदित्यनाथ योगी ने मंगलवार को लोकसभा में भाषण दिया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार है। यह सरकार जाति, धर्म देखे बिना विकास कर रही है। यूपी सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री मोदी के सपनों का प्रदेश होगा।

उन्होंने कहा कि पहले पूर्वांचल के विकास के लिए हमारी बातें नहीं सुनी जाती थी। पूर्वी यूपी बुरी तरह से पिछड़ा हुआ था। गोरखपुर से सांसद योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि पिछले तीन साल में देश की अर्थव्यवस्था काफी तेजी से बढ़ी है।

आदित्यनाथ योगी ने आगे कहा कि विकास का ढांचा कैसा होना चाहिए आज दुनिया भारत से सीखती है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में उत्तर प्रदेश में 300 से ज्यादा दंगे हुए लेकिन हमनें पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक भी दंगा नहीं होने दिया।

केंद्र सरकार की जनधन योजना को आदित्यनाथ योगी ने गरीबों की योजना बताई। इसके अलावा अपने भाषण में उन्होंने पीएम द्वारा नवंबर में की गई नोटबंदी की भी सराहना की। आदित्यनाथ ने यूपी की पूर्व सरकारों पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछली यूपी सरकारों ने केंद्र सरकार के द्वारा दिए गए फंड का पूरी तरह से उपयोग नहीं किया। उत्तर प्रदेश को केंद्र सरकार ने पिछले दो सालों में 2.5 लाख करोड़ रुपए दिए, लेकिन मात्र 78 हजार करोड़ ही रुपए खर्च हो पाए।

आदित्यनाथ ने कहा, ‘मैं पहली बार जब चुनकर आया था, उस समय गोरखपुर की स्थिति ऐसी थी कि उर्वरक मंत्री सुरजीत सिंह बरनाला के पास गया तो उन्होंने तीन बार पूछा कि क्या आप गोरखपुर से ही चुनकर आए हैं? इसके बाद मैंने कहा कि आप ऐसा क्यों पूछ रहे हैं?

सुरजीत सिंह बरनाला ने बताया कि एक बार मैं वहां सभा के लिए गया था। लेकिन वहां बम चलने लगे और फिर मैं नहीं गया। यूपी सीएम ने कहा कि मुझे दुख हुआ कि गोरखपुर के बारे में ऐसी धारणा है। गोरखपुर के बारे में 1998 में जो बातें सुनने को मिलती थीं, लेकिन 15 साल में हमने किसी एक व्यापारी को गुंडा टैक्स नहीं देने दिया।

पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए आदित्यनाथ ने बताया कि 26 साल से गोरखपुर का फर्टिलाइजर प्लांट बंद था। उस कारखाने का प्रधानमंत्री मोदीजी ने पिछले साल शिलान्यास किया है। इसके अलावा पीएम ने गोरखपुर को एम्स भी दिया।